मुख्यमंत्री को बम से उड़ाने की धमकी देने वाला अब तक फरार, जांच जारी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

एलायंस टुडे ब्यूरो

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बम से उड़ाने की धमकी के मामले में जांच में जुटी टीमे अभी आरोपित को गिरफ्तार नहीं कर सकी हैं।

आरोपित की तलाश में एसटीएफ की एक टीम ने महाराष्ट्र में डेरा डाला है। धमकी भरा संदेश यूपी 112 के हेल्पडेस्क के जिस व्हाट्सएप नंबर से आया था, वह (8828453350) महाराष्ट्र का है। अभी सफलता नहीं मिली है।

इसके अतिरिक्त सभी जिलों की पुलिस को अलर्ट किया गया है। मुख्यमंत्री की सुरक्षा में विशेष सतर्कता बरती जा रही है। इस मामले में गोमतीनगर थाने में अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ आईपीसी की धारा 505(1)/(इ),506 और 507 के तहत इंस्पेक्टर धीरज शुक्ला की तहरीर पर एफआइआर दर्ज हुई है। धमकी देने वाले की तलाश की जा रही है।

छानबीन में संबधित अधिकारी किसी संगठन के हाथ होने की बात कह रहे हैं। जल्द ही इसके राजफाश का दावा कर रहे हैं। पुलिस, एसटीएफ, क्राइम ब्रांच, सर्विलांस समेत कई टीमें आरोपित की तलाश में लगाई गईं हैं।

यूपी पुलिस के 112 मुख्यालय में गुरुवार देर रात लगभग साढ़े बारह एक वॉट्सएप मैसेज आया था। यह मैसेज डायल 112 की सोशल मीडिया डेस्क के वाट्सएप नंबर 7570000100 पर आया था। मैसेज में लिखा है कि श्सीएम योगी को मैं बम से मारने वाला हूं।

वह (एक खास समुदाय का नाम लिखा) की जान का दुश्मन है।श् इस मैसेज के आने के बाद तत्काल आला अफसरों को इसकी जानकारी दी गई।

अधिकारियों ने बताया कि गोमती नगर थाने में मुकदमा पंजीकृत किया गया है। खासबात यह है कि इस मामले में पुलिस पूरी तत्परता दिखाई। मैसेज 21 मई की रात में 12 बजकर 32 मिनट पर आया मिला था।

इस मैसेज के मिलने के महज 19 मिनट के अंदर 12 बजकर 51 मिनट पर गोमती नगर पुलिस स्टेशन एफआईआर दर्ज करा दी गई। गोमती नगर के निरीक्षक डीके सिंह ने बताया कि 112 मुख्यालय से संदेश मंगाया गया है।

संदेश भेजने के लिए उपयोग किये नम्बर की जांच शुरू कर दी गयी है। जल्द ही लोकेशन ट्रेस हो जायेगी। लखनऊ के गोमती नगर थाना में शुक्रवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बम से उड़ाने की धमकी देने वाले अज्ञात के खिलाफ धारा 505 वन बी, 506 और 507 के तहत एफआईआर दर्ज की गयी है।

—————————————————–

कृपया ध्यान दें।

एलायंस टुडे हिंदी न्यूज वेब पोर्टल पिछले तीन सालों से अपने दर्शकों-पाठकों को निष्पक्ष और सच्ची खबरें निरंतर उपलब्ध करा रहा है। यह मीडिया जनता के सहयोग से जनता के लिए संचालित है। लोकतंत्र को बचाये रखने के लिए यह मीडिया किसी काॅरपोरेट घराने या राजनीतिक दलों से कोई सहयोग नहीं लेता है। अतः दर्शकों-पाठकों से आशा है कि वे इस मीडिया को अपना उल्लेखनीय योगदान देने का कष्ट करेंगे। स्वैच्छिक योगदान के लिए पेज पर दिए गए लिंक का प्रयोग करें। आपको ऑनलाइन योगदान की रसीद भी तत्काल प्राप्त हो जाएगी। धन्यवाद।

प्रबंध निदेशक

 

Share on

Leave a Reply