राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद ने कहा, एस्मा वापस लिया जाए

Vijay Kumar Nigam President, RajyaKarmchari Sanyukt Parishad Photo-Alliance Today
Vijay Kumar Nigam President, RajyaKarmchari Sanyukt Parishad Photo-Alliance Today

एलायंस टुडे ब्यूरो

लखनऊ। राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद (निगम गुट) ने प्रदेश सरकार से एस्मा हटाए जाने की मांग की है। परिषद के अध्यक्ष विजय कुमार निगम ने यह जानकारी दी।

उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा कर्मचारियों को महज डराने के लिए एस्मा लगा दिया गया है। यहां यह भी अवगत कराना आवश्यक हो जाता है कि हम कर्मचारियों को हमारे पुरोधा स्वर्गीय बीएन सिंह, पीएन शुक्ला, स्वर्गीय मोहम्मद वसीम सिद्दीकी, स्वर्गीय लल्लन पांडे, मांधाता सिंह, अमरनाथ यादव, राम जी अवस्थी, बीएल कुशवाहा, डॉ लाल जी निर्मल, यादवेंद्र मिश्रा, ओंकार नाथ तिवारी, गोपी कृष्ण श्रीवास्तव, स्वर्गीय दादा डीएन घोष व अन्य नेताओं द्वारा लगातार कर्मचारियों के लिए किये गये संघर्ष का ही प्रतिफल रहा कि प्रदेश में भी केंद्र के बराबर महंगाई भत्ता तथा केंद्र के बराबर वेतनमान कर्मचारियों को प्राप्त हुए। पर हमारे पुराने कर्मचारी साहसी योद्धा नेताओं द्वारा हमें दिलाया गया नगदीकरण और 11 भत्ते वर्तमान सरकार द्वारा छीन लिये गये।

उन्होंने कहा कि यदि मुख्यमंत्री व मुख्य सचिव हम कर्मचारी संगठनों से इस समस्या पर वार्ता करके कर्मचारियों की मांगों के संबंध में सहानुभूति पूर्वक विचार करने को तैयार हो तो, हमारे कर्मचारी साथी भी इस विपदा की स्थिति में किसी भी हद तक सहर्ष सहयोग करने के लिए पूर्णतया सहमत हो जाएगा। उन्होंने कहा कि सरकार काटे गए भत्तों को वापस करें, क्योंकि भत्ते यदि स्थगित कर दिए गए होते तो ज्यादा दुख का विषय नहीं होता, पर समाप्त किए जाने की दशा में कर्मचारीवर्ग काफी आक्रोशित है।

उन्होंने कहा कि जरूरत पड़ी तो अपने मौलिक अधिकारों के संरक्षण के लिए संयुक्त परिषद न्यायालय की शरण में भी जाएगा । इस संबंध में राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद अन्य संगठनों से भी वार्ता कर कर्मचारियों की लड़ाई सामूहिक रूप से लड़ने के लिए रणनीति तैयार करने संबंधी निर्णय लिया लेगा।

Share on

Leave a Reply

Your email address will not be published.