PM मोदी ने किया गरीब कल्याण रोजगार अभियान का शुभारंभ, जानिए इसके बारे में

PM मोदी ने किया गरीब कल्याण रोजगार अभियान

एलायंस टुडे ब्यूरो

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ( Prime Minister Narendra Modi ) ने 50 हजार करोड़ रुपये की लागत वाली गरीब कल्याण रोजगार अभियान ( Garib Kalyan Rozgar Abhiyan ) का शनिवार को वीडियो कॉन्फ्रेन्स के जरिए शुभारंभ किया।

इस योजना के जरिए कोरोना वायरस महामारी ( Covid-19 ) के कारण लॉकडाउन ( Lockdown ) के दौरान अपने राज्य लौटे लाखों प्रवासी मजदूरों को रोजगार दिया जाएगा।

इस दौरान प्रधानमंत्री ( Prime Minister Narendra Modi ) ने प्रवासी मजदूरों से बात भी की और गरीबों को सरकार की ओर से मुफ्त राशन मिलने के बारे में चर्चा की। साथ ही उन्होंने मजदूरों से आज शुरू किए गए रोजगार अभियान ( Garib Kalyan Rozgar Abhiyan ) के तहत मिलने वाले फायदों से अवगत कराया और कहा कि इसके जरिए प्रवासी श्रमिकों को सशक्त बनाने के लक्ष्य का विवरण दिया।

यह भी पढ़ें – Sushant Death: फिल्म जगत में यह कैसा नेपोटिजम, अब इस एक्ट्रेस का बयान सुनिए

हरियाणा में राजमिस्त्री के तौर पर काम करने वाले एक प्रवासी श्रमिक से प्रधानमंत्री ( Prime Minister Narendra Modi ) ने बात की। इस दौरान पांच राज्यों- बिहार, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश, राजस्थान, झारखंड और ओडिशा के मुख्यमंत्री मौजूद रहे।

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी भी उपस्थित हैं। इसके अलावा योजना से संबंध रखने वाले मंत्रालयों के केंद्रीय मंत्री भी इसमें शामिल हुए।

गरीब कल्याण रोजगार के बारे में

छह राज्यों के 116 जिलों में 125 दिनों के अभियान का उद्देश्य प्रवासी श्रमिकों की सहायता के लिए मिशन मोड में काम करना है।

इस कार्यक्रम के तहत बिहार, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश, राजस्थान, झारखंड और ओडिशा के 116 जिलों को कवर किया जाएगा। इन सभी जिले में लॉकडाउन के दौरान 25 हजार से अधिक प्रवासी श्रमिक वापस लौटे हैं।

50 हजार करोड़ रुपये के लागत वाले इस योजना के तहत रोजगार प्रदान करने और बुनियादी ढांचे के निर्माण के लिए 25 विभिन्न प्रकार के कार्यों का गहन और केंद्रित कार्यान्वयन शामिल होगा।

सच्ची और अच्छी खबरों में अपडेट रहने के लिए एलायंस टुडे से और संबंध बनाइए

फाॅलो करिए –

YouTube

Facebook

Instagram

Twitter

Helo App

TikTok

Share on

Leave a Reply

Your email address will not be published.