कोरोना का कहर: लखनऊ विश्वविद्यालय में हड़कंप, जानें राजधानी में कितने संक्रमित

कोरोना का कहर

अनुपम चन्द्र/एलायंस टुडे ब्यूरो

लखनऊ। लखनऊ विश्वविद्यालय के एक असिस्टेंट प्रोफेसर के कोरोना पॉजिटिव होने की खबर से शुक्रवार को विश्वविद्यालय में हड़कंप मच गया। विश्वविद्यालय प्रशासन ने आनन-फानन संबंधित शिक्षक के संपर्क में आने वालों की पड़ताल की। पाया गया कि लॉकडाउन के चलते संबंधित शिक्षक अपने घर पर ही था।

4 जून को मामला संज्ञान में आने के बाद विभागीय काम से अस्सिटेंट प्रोफेसर से मिलने गए विश्वविद्यालय के कर्मचारियों को चिन्हित किया गया। जिसके बाद सात कर्मचारियों के उनके संपर्क में आने की बात सामने आई। जिसके बाद से विश्वविद्यालय प्रशासन ने सातों कर्मचारियों को सात दिन के लिए होम क्वॉरेंटाइन के लिए निर्देश जारी किए।

राजधानी में 16 नए मरीजों में कोरोना की पुष्टि हुई है। इसमें लोहिया संस्थान में मरीजों की चादर विसंक्रमित करने वाले कर्मी के घर में दस लोग पॉजिटिव पाए गए हैं। लोहिया संस्थान के कोविड अस्पताल में मरीजों की चादर, तकिए का कवर धुलकर मशीन में विसंक्रमित किया जाता है। इस मशीन पर तैनात कर्मी में पहले वायरस की पुष्टि हुई थी।

ऐसे में संस्थान में करीब 30 लोगों की जांच की गई। सभी की रिपोर्ट निगेटिव आई। वहीं, संक्रमित कर्मी के घर के सदस्य, मकान मालिक समेत दस लोगों में वायरस की पुष्टि हुई है। लखनऊ विश्वविद्यालय के एक असिस्टेंट प्रोफेसर के कोरोना पॉजिटिव होने की खबर से विश्वविद्यालय में हड़कंप मच गया।

संक्रमित कर्मी चिनहट के मल्हौर का निवासी है। दस लोगों में वायरस की पुष्टि होने पर क्षेत्र में अफरातफरी मच गई है। कर्मी की पत्नी, बच्चे, परिवार के सदस्य को कोविड अस्पताल में भर्ती कराया गया। तीन जीआरपी के जवान, सहायक यातायात निरीक्षक संक्रमित चारबाग रेलवे स्टेशन पर तैनात तीन और जीआरपी के जवानों में संक्रमण की पुष्टि हुई है।

इसके अलावा रोडवेज के एक सहायक यातायात निरीक्षक में कोरोना पाया गया है। ऐसे में इनके संपर्क में आए लोगों की तलाश की जा रही है। इसके अलावा ऐशबाग निवासी डॉ. श्याम स्वरूप के बेटे में भी संक्रमण की पुष्टि हुई है। वहीं मरीजों के इलाके में घर-घर हेल्थ सर्वे भी किया जाएगा।

सीएमओ की टीम ने 2806 घरों का भ्रमण किया। इस दौरान 11323 लोगों का स्वास्थ्य ब्योरा जुटाया। इसमें 148 लोगों का सैंपल जांच के लिए भेजा। शहर में कोरोना मरीजों की संख्या 432 हो गई है।

राजधानी में शुक्रवार को चिनहट में एक साथ कई नए मरीज मिलने व ऐशबाग में बलरामपुर अस्पताल के पूर्व निदेशक के निधन के बाद इन दोनों इलाकों नया हॉटस्पॉट घोषित किया गया है।

वहीं, अब कुल हॉटस्पॉट की संख्या 13 हो गई है। सीएमओ डॉ. नरेंद्र अग्रवाल ने बताया कि चिनहट के निजामपुर मल्हौर में एक ही परिवार के सात-आठ संक्रमित मिले हैं। जबकि ऐशबाग खजुआ में बलरामपुर के पूर्व निदेशक व उनके बेटे में कोरोना की पुष्टि होने के बाद नया हॉटस्पॉट बनाया गया है। इन इलाकों को सील कर सैनिटाइजेशन कराया जा रहा है।

सुलतानपुर में पांच और संक्रमित

सुलतानपुर में पांच और कोरोना संक्रमित मिले। इनमेें चार मुम्बई और एक गुजरात से लौटे लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई है। यहां अब तक 100 लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं, जबकि 52 लोग अब तक स्वस्थ हो चुके है। जिले में सक्रिय केस की संख्या 48 हैै। मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ सीबीएन त्रिपाठी ने इसकी पुष्टी की है।

सच्ची और अच्छी खबरों में अपडेट रहने के लिए एलायंस टुडे से और संबंध बनाइए

फाॅलो करिए –

YouTube

Facebook

Instagram

Twitter

Helo App

TikTok

Share on

Leave a Reply

Your email address will not be published.