ISIS के चंगुल से छूटे फादर टॉम लौटे दिल्ली

आईएसआईएस की कैद में 17 महीने बीताने के बाद फादर टॉम उजहूनालिल आखिरकार अपने देश वापस लौट गए हैं। दिल्ली एयरपोर्ट पर पत्रकारों से बातचीत के दौरान फादर टॉम उजहूनालिल ने कहा कि मैं बहुत खुश हूं और इस दिन को संभव बनाने के लिए सभी को धन्यवाद देता हूं जिन्होंने अपने तरीके से काम किया और मैं उनका आभारी हूं। टॉप दिल्ली में हैं और वह पीएम नरेंद्र मोदी से भी मुलाकात कर सकते हैं।फादर टॉम को आईएसआईएस ने 4 मार्च 2016 को यमन के अदर्न शहर से किडनैप किया था। इसके बाद अगस्त महीने में करेल के एक डेलिगेशन ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मुलाकात की थी और फादर टॉम की रिहाई की मांग की थी।गौरतलब है कि फादर टॉम केरल के कोयट्टम जिले के रामापुरम के रहने वाले हैं। उन्हें केरल के चर्च ने फादर टॉम को 2010 में भेजा गया था। उजहूनालिल कुडुम्ब योगम के ट्रेजरर ने बताया कि 5 साल का टर्म खत्म होने पर चर्च ने उनसे तब तक वहां रुकने के लिए कहा, जब तक कोई दूसरा आकर उनका चार्ज ना संभाल ले। इसके बाद फादर टॉम को 4 मार्च, 2016 को अदन के एक ओल्ड एज होम से अगवा कर लिया गया था। यहां 15 लोगों की हत्या भी कर दी गई थी। इसके बाद टॉम का खुद को बचाने की गुहार लगाने वाला एक वीडियो सामने आया था। इसमें टॉम ने प्रणब मुखर्जी, नरेंद्र मोदी, पोप फ्रांसिस और क्रिश्चियन कम्युनिटी से मदद की अपील की थी

Share on

Leave a Reply