गौ माता के बिना गोपाल की भक्ति अधूरी

alliancetoday
alliancetoday

देश-विदेश में श्रीकृष्ण जन्मोत्सव की धूम है। चारों तरफ जिधर देखो कृष्ण भक्ति में श्रद्धालु भक्त लीन है। कहीं श्रद्धालु भक्त हरिनाम कीर्तन कर रहे हैं तो कहीं अभिषेक तो कहीं 56 प्रकार का भोग तो कहीं सुंदर-सुंदर झाकियां बनाकर श्रीकृष्ण जन्मोत्सव को धूमधाम से मनाने में लाखों रुपए व्यय कर रहे हैं

भगवान कृष्ण की आराध्या गौ माता संकट में
देश-विदेश में श्रद्धालु भक्तगण लाखों करोड़ों रुपए खर्च कर बड़े- बड़े आयोजन कर श्रीकृष्ण जन्मोत्सव मनाकर अपनी भक्ति का प्रदर्शन करते हैं लेकिन वे भूल जाते हैं कि भगवान कृष्ण की सच्ची भक्ति तो उनकी आराध्या गौ माता की सेवा में है। गौ माता संकट में है। कूड़ाघरों के पास कूड़ा खाने के लिए विवश हैं। भूख से तड़़पकर दम तोड़ने को विवश हैं।

गौ माताओं को झूठा भोजन करना महापाप
गौ माता हमारे प्रभु राम व कृष्ण की प्रिय हैं। गौ माता में 33 कोटि देवी-देवताओं का वास है। गौ माता की पूजा 33 कोटि देवी देवताओं की पूजा है। इसके बाद भी गौ की महिमा को जानते हुए कुछ लोग गौ माता को झूठा भोजन देते हैं और गौ माता पर पानी डालते हैं जो घोर पाप है।

डंडों से मारे जाने पर भी अमृत तुल्य दूध देती है दयालु गौ माता

कुछ पशुपालक गौ माताओं को डंडो से बुरी तरह मारते हैं फिर भी गौ माता इतनी दयालु है कि वह अमृत समान दूध देती है।

गौ माता के प्रचार प्रसार में कर रहा है सराहनीय कार्य
उत्तर प्रदेश में मथुरा के वृंदावन में श्री मलुकपीठ ऐसा संस्थान है जो पूरी ईमानदारी के साथ गौ माता के प्रचार-प्रसार के लिए कार्य कर रहा है।
श्री मलुकपीठाधीश्वर श्री राजेन्द्र दास जी महराज श्रीराम कथा श्रीमद् भागवत कथा का रसास्वादन श्रद्धालु भक्ति को कराते हुए बीच-बीच में गौ माता की महिमा को बताते हुए कहते हैं कि गौ माता की सेवा के बिना यह मानव जीवन बेकार है। मानव गौ माता की सेवा करके ही अपना लोक परलोक सुधार सकता है।

श्रीकृष्ण जन्मोत्सव पर मानव गौ माता को पांच रोटी व एक किलो हरा चारा खिलाने के लिए लें संकल्प
भारतवर्ष के सनातन प्रेमियों को श्रीकृष्ण जन्मोत्सव पर यह संकल्प लेना चाहिए कि वे प्रतिदिन बेसहारा गौ माताओं को पांच रोटी व एक किलो हरा चारा जरूर खिलाएंगे तभी उन्हें भगवान राधा कृष्ण की भक्ति प्राप्त होगी। इसके साथ ही साथ उन्हें एक माला हरे कृष्ण महामंत्र की प्रतिदिन करके यह प्रार्थना करनी चाहिए कि उत्तर प्रदेश के साथ-साथ भारत वर्ष उन्नति की और अग्रसर हो।

Share on

Leave a Reply