यूपी की उन सीटों के बारे में जहां गठबंधन की जीत

 

एलायंस टुडे ब्यूरो

alliancetoday
alliancetoday

लखनऊ यूपी की कुछ सीटें ऐसी भी रही हैं जिन पर कांग्रेस का वोट अगर गठबंधन के वोट में जोड़ दिया जाए तो गठबंधन की जीत हो सकती थी. प्रदेश में सिर्फ तीन सीटें ही ऐसी रहीं जिन पर कांग्रेस दूसरे स्थान पर रही जबकि करीब 60 सीटों पर उसके प्रत्याशियों की जमानत जब्त हो गई.

बदायूं, बांदा, बाराबंकी, बस्ती, धौरहरा, मेरठ, संतकबीरनगर, और सुल्तानपुर में बीजेपी उम्मीदवारों की जीत का मार्जिन कांग्रेस उम्मीदवारों को मिले वोटों से कम रहा.

मछलीशहर सीट पर कांग्रेस की सहयोगी जन अधिकार पार्टी ने चुनाव लड़ा था जिसे 7617 वोट मिले जबकि गठबंधन के उम्मीदवार 181 वोटों से हार गए.

बदायूं में गठबंधन को 492898 वोट मिले जबकि बीजेपी को 511352 वोट मिले. कांग्रेस को यहां 51947 वोट मिले.

बांदा में बीजेपी को 477926 वोट मिले जबकि गठबंधन को 418988 वोट हासिल हुए. कांग्रेस को यहां 75438 वोट मिले.

बाराबंकी में बीजेपी को 535917 वोट मिले जबकि गठबंधन को 425777 वोट हासिल हुए. कांग्रेस को यहां 159611 वोट मिले.

बस्ती में बीजेपी को 471162 वोट मिले जबकि गठबंधन को 440808 वोट हासिल हुए. कांग्रेस को यहां 86920 वोट मिले.

धौरहरा में बीजेपी को 512905 वोट मिले जबकि गठबंधन को 352294 वोट हासाल हुए. कांग्रेस को यहां 162856 वोट मिले.

मेरठ में बीजेपी को 586184 वोट मिले जबकि गठबंधन को 581455 वोट मिले. कांग्रेस को यहां से 34479 वोट मिले.

संतकबीरनगर में बीजेपी को 467543 वोट मिले जबकि गठबंधन को 431794 वोट हासिल हुए. कांग्रेस को यहां से 128506 वोट मिले.

सुल्तानपुर में बीजेपी को 459196 वोट मिले जबकि गठबंधन को 444670 वोट हासिल हुए. कांग्रेस को यहां से 41681 वोट मिले

अगर बात सीतापुर की करें तो यहां बीजेपी उम्मीदवार 100833 वोटों से जीते जबकि कांग्रेस के उम्मीदवार को 96018 वोट मिले.

केवल तीन जगहों- अमेठी, कानपुर और फतेहपुर सीकरी में ही कांग्रेस दूसरे नंबर पर रही. इन जगहों से राहुल गांधी, श्रीप्रकाश जायसवाल और राज बब्बर चुनाव लड़े थे

Share on

Leave a Reply