सीतापुर का दुष्कर्मी बाबा निकला बाराबंकी का मूर्तिचोर, अयोध्या और लखनऊ में भी चल रहा विवाद

दुष्कर्मी बाबा निकला बाराबंकी का मूर्तिचोर खुलते राज लखनऊ के वजीरगंज में मठ की भूमि की खरीद-फरोख्त पर पुलिस कर चुकी है कार्रवाई अयोध्या में सम्पत्ति को लेकर चल रहा दीवानी विवाद, पुलिस ने खंगाले रिकार्ड मेडिकल के बाद बाबा को भेजा गया जेल सीतापुर। हिन्दुस्तान टीम महिला को बंधक बनाकर रेप करने वाला आरोपी बाबा सियारादास बाराबंकी का मूर्तिचोर निकला।सीतापुर के चर्चित बाबा के आरोपों की फेहरिस्त यही पर खत्म नहीं हुई। अयोध्या में भी बाबा सियारादास का भूमि विवाद चल रहा है, जो दीवानी से जुड़ा हुआ है। लखनऊ के वजीरगंज में मठ की जमीन की खरीद-फरोख्त को लेकर भी पुलिस कार्रवाई कर चुकी है। बुधवार को दुष्कर्म के आरोपी बाबा को जेल जाने से पहले मेडिकल परीक्षण के कई चक्रों से गुजरना पड़ा। रक्त के नमूने और स्लाइड लिए जाने के बाद बुधवार को बाबा सियारामदास को जेल भेजा गया। पूरे मामले में एएसपी एमपी सिंह का कहना है कि यूपी के कई जिलों की पुलिस से संपर्क किया जा रहा है। फिलहाल जो रिकार्ड मिले हैं, उसमें बाबा सियारादास पर बाराबंकी में हुई मूर्ति चोरी का केस सामने आया है। अयोध्या में आश्रम का भूमि विवाद दीवानी में विचाराधीन है। लखनऊ के वजीरगंज थाने में धोखाधड़ी के मामले में पुलिस कार्रवाई कर चुकी है। इसमें सियारादास पर मठ की जमीन को बेचने का आरोप है। यह जमीन पाण्डेयगंज सहित अन्य स्थानों पर मौजूद है। आगरा, हाथरस भेजी गई टीम वापस नहीं आई है। जानकारी मिलने पर कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी। बाबा सियारामदास को मेडिकल परीक्षण कराकर जेल भेजा गया है।

रिंटू की तलाश तेज, टीम गठित सीतापुर-

रिंटू सिंह की तलाश में सीतापुर पुलिस में हाईअलर्ट है। आरोपी महिला की गिरफ्तारी को लेकर क्राइम ब्रांच ने लखनऊ में डेरा डाल लिया है। पुलिस की जांच में पता चला है कि लखनऊ की रहने वाली रिंटू ही पीड़िता की खरीद-फरोख्त का मुख्य कैरियर थी। एएसपी का कहना है कि रिंटू की तलाश में टीम गठित की गई है। उसकी गिरफ्तारी के बाद कई और सच सामने आएंगे।

काल डिटेल ने खोले पर्त दर पर्त राज

जिस समय रामपुरकला थाने में महिला के अपहरण का अभियोग दर्ज हो रहा था, उसके ठीक कुछ घण्टों बाद युवती का मोबाइल बंद हो गया। खुला तो दूसरा सिम इस्तेमाल किया गया। मोबाइल की लोकेशन बाराबंकी और फतेहपुर के ईद-गिर्द मिली। सूत्रों की मानें तो युवती सुमित वर्मा के संपर्क में आई थी। इसी के बाद चर्चित रिंटू सिंह ने उसे बाबा तक पहुंचाया। आरोप है कि लखनऊ के कुछ स्थानों पर भी पीड़िता को रखा गया।

महिला हेल्प लाइन को भी दी सूचना

बंधन से मुक्त रेप पीड़िता ने 100 डायल से पहले महिला हेल्प लाइन को फोन किया था। यह बात पुलिस जांच में सामने आई है। बताते हैं कि लखनऊ महिला हेल्प लाइन ने 100 डायल से तालमेल बनाकर सूचना के आदान-प्रदान में मदद की। इस बिन्दु को जांच अधिकारी ने साक्ष्य बनाया है।

Share on

Leave a Reply

Your email address will not be published.