सीएम योगी आदित्यनाथ ने सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के आरोपों का दिया मुहतोड़ जवाब

एलायंस टुडे ब्यूरो

लखनऊ। सीएम योगी आदित्यनाथ ने विधान परिषद में बुधवार को पूर्व सीएम अखिलेश यादव का सरकार पर लगाए गए आरोपों का जवाब दिया। उन्होंने पिछली सरकार के कार्यकाल में हुई गड़बड़ियों का उल्लेख करते हुए सपा-बसपा पर जमकर हमला बोला। इसके साथ ही विधान परिषद ने यूपीकोका समेत 10 विधेयक पारित कर दिए। इस बीच विधान परिषद भी अनिश्चित काल के लिए स्थगित हो गई है। योगी आदित्यनाथ ने अपने एक घंटे 42 मिनट के भाषण में कहा कि प्रदेश की जनता तय कर चुकी है कि उसे समाजवाद नहीं रामराज्य चाहिए। अपने भाषण के दौरान योगी आदित्यनाथ ने समाजवाद को धोखा बताया। इस पर सदन में काफी देर तक शोर शराबा और हंगामा हुआ। समाजवादी पार्टी के सदस्यों ने सीएम के इस वक्तव्य को कार्यवाही से निकालने की मांग की। नेता विरोधी दल अहमद हसन ने कहा कि समाजवाद देश की सबसे बड़ी सच्चाई है। इस पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि समाजवाद मृगतृष्णा के अलावा कुछ भी नहीं है। उन्होंने कहा जर्मनी में नाजीवाद इटली में फासीवाद और यूपी में गुंडाराज को याद किया जाता है। योगी ने कहा कि अगले 2 वर्षों में उनकी सरकार 4 लाख नौकरी देने जा रही है। उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा है कि किसानों के कर्जे माफ नहीं हुए हैं। इस पर मैं यही कहूंगा कि जो जमीन से नहीं जुड़ा होगा वह ऐसी ही हल्की बातें करेगा। योगी ने कहा पूर्व मुख्यमंत्री ने अपने भाषण में यह कह दिया है कि यूपी में सर्वाधिक दंगे हो रहे हैं, उनके ऐसा कहने पर लोग हंसते हैं। योगी ने कहा कि परसेप्शन ने साबित कर दिया है कि यूपी में अपराध की कमर टूट रही है। पहले अपराधी महिमामंडित होते थे अब ऐसा नहीं हो रहा है माहौल इस तरह का बन चुका है कि अपराधी अब ठेले लगाने लग गए हैं।

Share on

Leave a Reply