राज्यपाल ने भारतीय महिला क्रिकेट टीम की सदस्यों को सम्मानित किया

एलायंस टुडे ब्यूरो
राज्यपाल राम नाईक ने शनिवार को होटल हयात रिजेन्सी में पी0एच0डी0 चैम्बर आॅफ कामर्स एण्ड इण्डस्ट्रीज लखनऊ, उदय भारत एवं यंग बिजनेस फोरम के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित एक समारोह में भारतीय महिला क्रिकेट टीम की सदस्यों पद्मश्री अंजुम चोपड़ा एवं रीता डे सहित दीप्ति शर्मा, पूनम यादव, सुषमा वर्मा, मानसी जोशी, नुजहत परवीन को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। इस अवसर पर प्रदेश की महिला कल्याण एवं पर्यटन मंत्री रीता बहुगुणा जोशी, दीपक शर्मा सी0ई0ओ0 उत्तर प्रदेश क्रिकेट एकेडमी, पी0एच0डी0 चैम्बर आॅफ कामर्स एण्ड इण्डस्ट्रीज के कृषि एवं खेल समिति के अध्यक्ष मुकेश सिंह, गौरव प्रकाश सहित अन्य वरिष्ठ नागरिक जन एवं क्रिकेट प्रेमी भी उपस्थित थे।
राज्यपाल ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि ‘मैं 83 वर्ष का हूँ, क्या मुझसे ज्यादा उम्र का कोई दूसरा यहाँ है। आज की व्यस्त दिनचर्या में मैं सुबह उर्दू, अरबी-फारसी विश्वविद्यालय के दीक्षान्त समारोह में गया। फिर वाराणसी में राष्ट्रीय पुस्तक मेले का उद्घाटन किया और अब लखनऊ में महिला क्रिकेट टीम का अभिनन्दन करने आया हूँ। ऐसे सम्मान समारोह में मुझे भी याद रखना चाहिए।’
श्री नाईक ने भारतीय महिला क्रिकेट टीम का अभिनन्दन करते हुए कहा कि क्रिकेट मैच में भारत की बेटियों ने देश की ताकत दिखाई। खेल में हार-जीत तो होती रहती है। हार-जीत तो उसकी होती है जो खेलता है। हारने का दुःख नहीं होना चाहिए बल्कि अच्छा खेलने का प्रयास होना चाहिए। उन्होंने कहा कि भारतवासियों को उन पर अभिमान है।
राज्यपाल ने कहा कि पूर्व में लोग सोचते थे कि सारे खेल महिलाओं के लिए नहीं हैं। पहले महिलाएं केवल शिक्षिका, नर्स, चिकित्सक आदि सेवाओं में होती थीं। महिलाओं का सशक्तीकरण हो रहा है। आज की महिला सेना, पायलट आदि के क्षेत्र में भी अपना योगदान दे रही है। इस बदलाव की भूमिका में विश्वविद्यालय में भी छात्राओं को 65 प्रतिशत पदक प्राप्त हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह देश के लिए शुभ संकेत है।
मंत्री रीता बहुगुणा जोशी ने क्रिकेट टीम का स्वागत करते हुए कहा कि भारतीय महिला क्रिकेट टीम ने देश का नाम रोशन किया है। महिलाओं को समाज का समर्थन मिले तो वे हर क्षेत्र में आगे बढ़ सकती हैं। उन्होंने कहा कि महिलाएं अपनी मेहनत और क्षमता के आधार पर अपना स्थान स्वयं बना रही हैं।

Share on

Leave a Reply