यूपी के बजट किसानों – युवाओं पर जोर


एलायंस टुडे ब्यूरो

लखनऊ। योगी आदित्य नाथ सरकार अपने पहले बजट में सभी को सस्ती एवं अत्याधुनिक स्वास्थ्य सेवा उपलब्ध कराने का पूरा प्रयास करते दिखी है। जहां एक तरफ सरकार ने ग्रामीण इलाकों के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों में डाक्टर उपलब्ध कराने के लिए 2000 आयुर्वेदिक डॉक्टरों को तैनात किए तो वहीं एसजीपीजीआई में रोबोटिक सर्जरी शुरू किए जाने का प्रस्ताव रख कर मरीजों को अत्याधुनिक चिकित्सा उपलब्ध कराने की दिशा में कदम बढ़ाए हैं।

-प्रदेश सरकार ने सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर पहली बार 595 डेन्टिस्ट के पद सृजित किए हैं।

-सरकार ने पीपीपी मोड पर 170 नेशनल मोबाईल मेडिकल यूनिट का संचालन करने का फैसला किया है।

– ग्रामीण इलाकों में 100 नए आयुर्वेदिक अस्पतालों की स्थापना लक्ष्य

– प्रधानमंत्री मातृ वन्दना योजना के लिए बजट में 291 करोड़ की व्यवस्था की गई है। प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना तीसरे चरण के तहत कानपुर और आगरा मेडिकल कालेज में सुपर स्पेशयलिटी विभाग के लिए 126 करोड़ रुपये

-एसजीपीजीआई में 200 बेड बढ़ाने के लिए इमरजेंसी मेडिसिन विभाग का विस्तारीकरण किया जाना

-केजीएमयू में आर्गन ट्रांसप्लाण्ट यूनिट की स्थापना

– आरएमएल इंस्टीट्यूट में 150 एमबीबीएस सीटों पर पहली बार प्रवेश, नवीन कैम्पस में 500 बेड का सुपरस्पेशियलिटी अस्पताल और पैरामेडिकल एवं नर्सिंग कालेज का निर्माण

– फैजाबाद, बस्ती, बहराइच, फिरोजाबाद एवं शाहजहांपुर के जिला अस्पतालों को अपग्रेड कर मेडिकल कालेज बनाने के लिए 500 करोड़

– राजकीय आयुर्विज्ञान संस्थान ग्रेटर नोएडा में इसी शैक्षणिक सत्र से एमबीबीएस की पढ़ाई 100 सीटों पर शुरू होगी

– कानपुर, गोरखपुर, आगरा और इलाहाबाद के राजकीय मेडिकल कालेजों में बर्न यूनिट के लिए 14 करोड़्र

– सरकारी मेडिकल कालेजों व संस्थानों में अग्निशमन उपकरणों के लिए 25 करोड़

– सभी राजकीय मेडिकल कालेज, हृदय रोग संस्थान व कैंसर संस्थान में ई-हॉस्पिटल सिस्टम का शुरू किया जाना

-राजकीय मेडिकल कालेजों में शव वाहनों के लिए 1.8 करोड़

-राजकीय मेडिकल कालेजों एवं संस्थानों के एंबुलेंस के लिए 4.62 करोड़

-मोती लाल नेहरू मेडिकल कालेज इलाहाबाद में नर्सिंग कालेज के उच्चीकरण के लिए 3 करोड़

-राजकीय चिकित्सालयों में पैथालाजी उपकरण के लिए 50 करोड़

-बायोमैट्रिक अटेंडेंस सिस्टम के लिए सभी जिला अस्पतालों व सीएचसी व स्वास्थ्य कार्यालयों में दो करोड़

-वरिष्ठ नागरिक स्वास्थय बीमा योजना के लिए 23.63 करोड़

-आठ आयुर्वेदिक महाविद्यालयों में इनोवेशन कार्यक्रम 10 लाख

-राजकीय आयुर्वेदिक महाविद्यालय वाराणसी में पीजी कोर्स के लिए 10.90 करोड़ रुपये

-लखनऊ में 50 बेड की जिला यूनानी चिकित्सालय की स्थापना 2.50करोड़ रुपये

Share on

Leave a Reply

Your email address will not be published.