मुख्यमंत्री ने हाथों में उठाया धनुष

मुख्यमंत्री ने भगवान राम से भ्रष्टाचार का मुकाबला करने की शक्ति प्रदान करने का आवाहन किया-श्री रामलीला समिति ऐशबाग ने प्रदेश से अत्याचार और भ्रष्टाचार समाप्त करने के लिये भेंट की गदालखनऊ। वरिष्ठ संवाददाताश्री रामलीला समिति ऐशबाग रामोत्सव 2017 के प्रांगण में शनिवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने भगवान राम से देश के अंदर आतंकवाद, नक्सलवाद और भ्रष्टाचार का बखूबी मुकाबला करने की शक्ति प्रदान करने का आवाहन किया। उन्होंने यह भी कहा कि कहीं से भी कोई कार्य गलत कर रहा है तो उससे मुकाबला मिलकर किया जा सके। उन्होंने कहा कि गांव-गांव में रामलीलाओं के मंचन का श्रेय तुलसीदास जी को दिया। संस्कृति विभाग यहां की रामलीला को उओ आगे बढ़ने में सहयोग देगा। उन्होंने यहां बैठकर कुछ समय दशरथ-कैकई का संवाद देखा। अध्यक्ष हरीशचन्द्र अग्रवाल, पंडित आदित्य द्विवेदी और संरक्षक उप मुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा की ओर से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने को बहुमूल्य धातु जड़ित रामचरित्रमानस, तुलसी चित्र भेंट किया गया। इसके बाद उनको अत्याचार और भ्रष्टाचार समाप्त करने के लिये गदा और महंगाई समाप्त करने के लिये धनुष बाण भेंट किया गया। इस दौरान बारिश में दर्शकों ने मुख्यमंत्री के उपस्थिति में रामलीला का मंचन भी देखा। प्रदेश की ऐतिहासिक रामलीलाओं में ऐशबाग भी: डॉ दिनेश शर्माश्री रामलीला समिति ऐशबाग रामोत्सव 2017 के संरक्षक उप मुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा ने कहा कि भारतवर्ष में राष्ट्रवाद की अलख जगाने वाले मुख्यमंत्री आदित्यनाथ यहां पधारे हैं। यहां की रामलीला प्रदेश की एतिहासिक रामलीलाओं में से एक है। नवाबों ने यहां की जमीन का पट्टा किया था। उन्होंने बताया कि जब वह पिछली भाजपा सरकार में पर्यटन मंत्री बने थे तो उन्होंने यहां राम भवन बनवाया था। पिछले साल प्रधानमंत्री आये थे और आतंकवाद का विरोध किया था। पुतला जलाया था। कुछ अपेक्षाएं हमने की है। उन्होंने कहा कि जितनी तेजी से जयकारा लगाएंगे उतनी भगवान आपकी कामना करेंगे।

बारिश में भी नहीं डिगा हौसला रामलीला का मंचन और उसमें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मौजूदगी। इस बीच मौसम की मार। बीच-बीच में बूंदा-बांदी। एक बार तो तेज हुई बारिश। फिर भी न तो आयोजक हिले और न ही रामलीला देखने आये दर्शक। मुख्यमंत्री ने अपने भाषण में इसकी चर्चा भी की और दर्शकों का अभिवादन भी किया। गोरक्ष पीठ की थीम पर बनाया गया मंचइससे पहले आयोजक ने बताया कि 21 सितंबर से शुरू होकर दो अक्टूबर तक चलने वाली रामलीला में 200 से ऊपर कलाकार भाग ले रहे हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के आने से पूर्व संचालक दर्शकों से यही कहते नज़र आये की गोरखपुर का अहसास कराएं यही प्रयास है। इसके बाद….’सुख के सब साथी दुख का ना कोई’ भजन सुनाया। संचालक ने यह भी बताया कि यहां का मंच इस बार गोरक्ष पीठ पर बनाया गया है।मुख्यमंत्री ने उतारी भगवान श्री राम की आरती, पात्र संग फोटो भी खिंचवाईलीला का शुभारम्भ ओम जयंती मंगला काली भद्रकाली कृपलानी स्तुति पर कलाकारों का नृत्य को मंच के पीछे की लइटों ने मनमोहक कर दिया। अयोध्या नगरी धन्य भई गीत पर राम सीता विवाह का दृश्य सबको भा गया। इसके बाद राम के राज्याभिषेक का प्रस्ताव दरबार मे रखने का मंचन किया गया। राजा राम चंद के राजा बनने कि खुशी में अयोध्या में खुशी का दृश्य मंचित हुआ जो देखते ही बना। दसरथ कैकई संवाद के बीच मुख्यमंत्री कार्यक्रम पर पहुंचे जहां उन्होंने राम, सीता और लक्ष्मण की आरती की। बाद में कलाकारों के साथ फोटो भी खिंचवा कर इस मौके को यादगार बनाया।

Share on

Leave a Reply