मायावती: सरकारी अनुमति के बिना हथियारों सहित प्रदर्शन करना भाजपा नेताओं का नया फैशन

एलायंस टुडे ब्यूरो

लखनऊ। बीएसपी अध्यक्ष मायावती का आरोप है कि बिन सरकारी अनुमति के हथियारों सहित प्रदर्शन करना भाजपा नेताओं का नया फैशन बन गया है। मायावती ने बुधवार को अपने बयान में कहा कि कासगंज का दंगा बीजेपी नेताओं की इस हरकत के कारण ही भड़का था। उन्होंने कहा कि कानून व्यवस्था बिगाड़ने के जिम्मेदार कार्यकर्ताओं पर अंकुश लगाने के बजाए सीएम योगी आदित्यनाथ और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दोहरे मापदंड अपनाते हुए ऐसे तत्वों को बढ़ावा दे रहे है। उनका कहना था कि ऐसे हालात भाजपा सरकारों ने पूरे देश में पैदा कर दिए हैं। बिहार और पश्चिमी बंगाल में दोहरे मापदंड अपनाए जा रहे हैं। बंगाल में ममता बनर्जी सरकार होने के कारण वहां दंगा फैलाने वालों पर कठोर कार्रवाई करने पर सरकार को कठघरे में खड़ा किया जा रहा है। उन्होंने इसे केंद्र सरकार का षड़़यंत्र बताते हुए कहा कि इसके विपरीत बिहार में भाजपा के केंद्रीय मंत्री के आरोपी पुत्र को बचाने का काम किया जा रहा है। मोदी सरकार बिहार के मामले में लीपापोती कर रही है। यूपी में कासगंज दंगे का हवाला देते हुए मायावती ने कहा कि दंगा योगी सरकार के दामन पर दाग है परंतु केंद्र आंखें मूंदे है। उन्होंने कहा कि भाजपा की सरकारें अपने कार्यकर्ताओं पर अंकुश लगाए जो कानूनों को तोड़कर हथियार बंद होकर प्रदर्शन करने की होड़ में जुटे है। केंद्र सरकार यदि दोहरा मापदंड अपनाए रखेगी तो हालात सुधर न पायेंगे।

Share on

Leave a Reply

Your email address will not be published.