फिनलैंड के टेंपरी स्थित प्राइमरी स्कूलों में बच्चों को पढ़ा रहा रोबोट

एजेंसी

हेलसिंकी। लैंग्वेज पढ़ाने वाले एक फुट लंबे एलियास नाम के एक रोबोट को सॉफ्टबैंक के एनएओ ह्यूमनॉइड इंटरेक्टिव कंपेनियन रोबोट प्रोग्राम के तहत विकसित किया गया है। यूटेलियास नाम की एक कंपनी ने इसका सॉफ्टवेयर तैयार किया है। फिनलैंड के टेंपरी स्थित प्राइमरी स्कूलों में इस तरह के रोबोट का पायलट परीक्षण किया जा रहा है। इस परीक्षण का उद्देश्य यह देखना है कि क्या इन रोबोट की मदद से अध्यापन की गुणवत्ता बढ़ाई जा सकती है। एलियास बच्चों से अंग्रेजी, फिनिश और जर्मन भाषा में बात करता है। साथ ही वह बच्चों को पढ़ाई के दौरान आने वाली परेशानियों से उनके टीचर को भी अवगत कराता है। यह रोबोट 23 भाषाएं बोल और समझ सकता है। बच्चों के बार-बार एक ही सवाल करने पर भी यह गुस्सा नहीं करता, बल्कि शांति से उसका जवाब देता है। यही नहीं, पढ़ते-पढ़ते अगर बच्चे थक जाएं तो उनके मनोरंजन के लिए वह गंगनम स्टाइल में डांस भी करता है। स्कूल टीचर रीका कोलुनसार्का का कहना है, बच्चों को पढ़ने के लिए प्रेरित करना बहुत महत्वपूर्ण है। बच्चों ने भी इस नई तकनीक के प्रति सकारात्मक प्रतिक्रिया दी है। स्कूल ने इस रोबोट को खरीद लिया है। एलियास के साथ गणित पढ़ाने वाले तीन अन्य रोबोट ओवोट का भी परीक्षण किया जा रहा है।

नहीं जाएगी शिक्षकों की नौकरी

इन रोबोट के पास बच्चों के हर सवाल का जवाब उपलब्ध है। लेकिन वह क्लास में अनुशासन बनाए नहीं रख सकता। इसलिए फिलहाल शिक्षकों को अपनी नौकरी जाने की फिक्र नहीं करनी चाहिए।

Share on

Leave a Reply

Your email address will not be published.