नौ साल की छात्रा की मौत पर निकम्मी साबित हुई कैंट पुलिस

-गम में डूबे छात्रा के पिता बिफरे पुलिस प्रशासन पर
एलायंस टुडे ब्यूरो
लखनऊ।….इसीलिए पुलिस वालों को गालियां मिलती हैं। यह सब केवल वसूली में मस्त रहते हैं। इनका जनता के जान-माल से कोई लेना-देना नहीं है, मेरी बेटी की मौत हो गई और पुलिस ने कोई साथ नहीं दिया…। तीन दिन बीत गये, पर कोई पुलिस वाला सांत्वना देने तक नहीं पहुंचा। चुनावी माहौल में कोई नेता भी नहीं दिखा। अभी किसी बड़े के साथ ऐसा हादसा होता तो सरकार-नेता सब मौके पर पहुंच जाते….। सदर में कार हादसे में मौत के मुंह में समा गई रिचा गुप्ता के पिता सूरज कुमार गुप्ता से जब एलायंस टुडे ने बातचीत की, तो वह पुलिस प्रशासन पर बिफर पड़े।
शुक्रवार को उनके आवास पर कई परिचित व रिश्तेदार उन्हें सांत्वना देने पहुंच रहे थे, पर पुलिस व प्रशासन की ओर से न तो कोई अधिकारी पहुंचा और न ही कोई कर्मचारी। नेता भी नदारद रहे। गम में डूबे सूरज गुप्ता ने बताया कि घटना वाले दिन उनकी बेटी जब कार से कुचल गई, तो एक पुलिस कर्मी मौके पर मौजूद था, पर उसने कोई सहायता नहीं की। पास में चैराहे पर पुलिस चैकी थी, पर यहां के स्टाफ ने कार चालक को पकड़ने की कोई कार्रवाई नहीं की। उन्होंने कहा कि सेना अस्पताल के कर्मियों ने बहुत मदद की, उन्होंने ने ही फोन पर घटना की सूचना दी, जबकि पुलिस कर्मी हाथ पर हाथ धरे बैठे थे।
प्रशासन की ओर से मुआवजा के सवाल पर उन्होंने कहा कि उनकी बेटी चली गई, उन्हें कोई मुआवजा नहीं लेना। लेकिन सवाल उठता है कि ऐसे जान जाती रहेगी और पुलिस कोई कार्रवाई नहीं करेगी।

 

सड़क पर आज भी कोई पुलिस कर्मी नहीं दिखा
संस्कृत पाठशाला के सामने हुई छात्रा की मौत के मामले में पुलिस अब भी संवेदनहीन बनी हुई है। एलायंस टुडे ने शुक्रवार को दोपहर में मौके का जायजा लिया तो सड़क व निकट चैराहे पर कोई पुलिस कर्मी नजर नहीं आया।

और खबरों को पढ़ने के लिए लाॅग इन करें-

www.alliancetoday.co.in

सम्पर्क करें-8840799505

ईमेल-editoralliancetoday@gmail.com

Share on

One thought on “नौ साल की छात्रा की मौत पर निकम्मी साबित हुई कैंट पुलिस

Leave a Reply