नवाज शरीफः मुंबई में हुए आतंकी हमले में पाकिस्तान का हाथ

एजेंसी

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने कहा है कि मुंबई में हुए आतंकी हमले में पाकिस्तान का हाथ था। अखबार द डॉन को दिए एक इंटरव्यू में उन्होंने स्वीकार किया कि मुंबई हमले में पाक आतंकियों की भूमिका थी। पाकिस्तान में भ्रष्टाचार के आरोपों के चलते पीएम पद के लिए अयोग्य ठहराए गए नवाज शरीफ ने माना है कि वहां अभी भी आतंकी संगठन सक्रिय हैं। नवाज शरीफ ने कहा, पाकिस्तान में अभी भी आतंकी संगठन सक्रिय हैं। क्या हम उन्हें सीमा पार कर मुंबई में घुसकर 150 लोगों को मारने का आदेश दे सकते हैं? इसका जवाब दीजिए। रावलपिंडी आतंकरोधी अदालत में मुंबई हमलों का ट्रायल लंबित होने का हवाला देते हुए नवाज ने कहा, हमने इस मसले पर सुनवाई क्यों नहीं पूरी की? शुक्रवार को मुल्तान में रैली से पहले इंटरव्यू में नवाज ने कहा, आप एक देश को नहीं चला सकते जब दो या तीन समानांतर सरकारें चल रही हों। यह रोकना होगा। सिर्फ एक ही सरकार हो सकती है, जो संवैधानिक प्रक्रिया से चुनी गई हो। गौरतलब है कि पाकिस्तान हमेशा से ही मुंबई हमले में अपना हाथ होने की बात को नकारता रहा है। भारत की तरफ से डोजियर और सबूत देने के बाद भी पाक ने अपनी भूमिका को कभी स्वीकार नहीं किया।

पनामा पेपर में गई नवाज की कुर्सी

पनामा पेपर लीक मामले में नवाज शरीफ का नाम आने के बाद सुप्रीम कोर्ट ने पिछले साल 28 जुलाई को उन्हें दोषी पाया था। जिसके बाद उन्हें प्रधानमंत्री पद के लिए अयोग्य घोषित करार दिया गया। नवाज शरीफ को पीएम पद से इस्तीफा देना पड़ा था। साथ ही इसके बाद अप्रैल में पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने शरीफ पर आजीवन चुनाव लड़ने पर रोक लगा दी।

मुंबई हमले में मारे गए 166 लोग

26 नवंबर 2008 को लश्कर-ए-तैयबा के 10 आतंकवादी मुंबई के ताज होटल में घुस गए थे। आतंकियों ने चार दिन तक होटल को कब्जे में रखा था। इस हमले में करीब 166 लोगों मारे गए थे, जबकि 300 लोग घायल हो गए थे।

Share on

Leave a Reply

Your email address will not be published.