डोनाल्ड ट्रम्प की चेतावनी: यदि ईरान हमला करता है, तो यह उसका अंत होगा

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने ईरान को कड़ी चेतावनी देते हुए कहा है कि यदि वह अमेरिकी हितों पर हमला करता है तो उसे ‘नष्ट कर दिया जाएगा। ट्रम्प ने रविवार को ट्वीट किया, ”यदि ईरान लड़ना चाहता है, तो यह ईरान का आधिकारिक अंत होगा। अमेरिका को फिर कभी धमकी मत देना।” अमेरिका और ईरान के बीच तनाव चरम पर है। अमेरिका ने ‘ईरान से खतरों के मद्देनजर खाड़ी में एक विमानवाहक पोत और बी-52 बमवर्षक तैनात किए हैं।

ईरान-अमेरिका तनाव: बगदाद में अमेरिकी दूतावास के पास रॉकेट गिरा

इस बीच, ईरान के विदेश मंत्री मोहम्मद जवाद जरीफ ने चीन की अपनी यात्रा के अंत में सरकारी संवाद समिति आईआरएनए से शनिवार को कहा, ”हम इस बात को लेकर निश्चित हैं… कोई युद्ध नहीं होगा क्योंकि न तो हम जंग चाहते हैं और न ही किसी को इस बात का भ्रम है कि वह क्षेत्र में ईरान का सामना कर सकता है।” ईरान और अमेरिका के बीच संबंध पिछले साल उस समय और खराब हो गए थे, जब ट्रम्प प्रशासन 2015 के परमाणु समझौते से पीछे हट गया था और उसने ईरान पर फिर से प्रतिबंध लगा दिए थे।

इससे पहले सऊदी अरब के विदेश राज्य मंत्री ने चिर प्रतिद्वंद्वी ईरान के साथ तनाव बढ़ने के बीच कहा है कि उनका देश युद्ध नहीं चाहता लेकिन अपनी रक्षा करेगा। सऊदी अरब के विदेश मामलों के राज्य मंत्री अदेल अल-जुबेर ने रविवार (19 मई) तड़के यह बयान दिया। उनका यह बयान ऐसे वक्त आया है जब एक सप्ताह पहले संयुक्त अरब अमीरात के तट पर तेल के चार टैंकरों को कथित तौर पर निशाना बनाया गया और ईरान समर्थित यमन के बागियों ने सऊदी अरब की तेल की पाइपाइन पर ड्रोन हमले का दावा किया था।

सऊदी अरब ने पाइपलाइन पर हमले के लिए ईरान को जिम्मेदार ठहराया है। खाड़ी अधिकारियों ने बताया कि टैंकर की घटना की जांच चल रही है। अल जुबेर ने पत्रकारों से कहा, ”हम क्षेत्र में शांति और स्थिरता चाहते हैं लेकिन हम हाथ बांधे खड़े नहीं रह सकते।” प्रमुख तेल उत्पादक देशों के मंत्रियों का मंगलवार (21 मई) को सऊदी अरब में मुलाकात का कार्यक्रम है।

Share on

Leave a Reply