जीतू रायः राष्ट्रमंडल खेलों में निशानेबाजी को शामिल न करने पर खेलों का बहिष्कार सही नहीं

एलायंस टुडे ब्यूरो

नई दिल्ली। 2022 बर्मिघम कॉमनवेल्थ गेम्स में निशानेबाजी को शामिल नहीं किए जाने पर पूर्व निशानेबाज जसपाल राणा ने भारत से इन खेलों का बहिष्कार करने की अपील की है, लेकिन स्वर्ण पदक का लक्ष्य लेकर गोल्ड कोस्ट जा रहे जीतू राई का मानना है कि ऐसा कोई भी कदम गलत होगा। कॉमनवेल्थ गेम्स फेडरेशन ने 2022 खेलों से निशानेबाजी को बाहर कर दिया है जिसमें भारत का प्रदर्शन बहुत अच्छा रहा है। इसके बाद अपने जमाने के दिग्गज निशानेबाज राणा ने कहा था कि देश को इन खेलों का पूर्ण बहिष्कार करना चाहिए। गोल्ड कोस्ट में दस मीटर एयर रायफल और 50 मीटर फ्री पिस्टल में भारतीय चुनौती पेश करने जा रहे राई से जब पूछा गया कि क्या वह राणा की बात से इत्तेफाक रखते हैं तो उन्होंने इसके उलट जवाब दिया। राई ने कहा, केवल एक खेलों से निशानेबाजी को हटाया गया है। इसके बाद 2026 में निशानेबाजी की फिर से वापसी हो जाएगी। ऐसे में मुझे लगता है कि बहिष्कार करना सही नहीं होगा। उन्होंने कहा, मेरी तैयारियां बहुत अच्छी चल रही हैं। मैं पहले से बेहतर स्कोर कर रहा हूं और पूरी उम्मीद है कि मैं खेलों में इससे भी अच्छा प्रदर्शन करके स्वर्ण पदक जीतने में सफल रहूंगा। मैं इस बार थोड़ा अलग तरह से तैयारियां कर रहा हूं। मेरा ध्यान खुद को शारीरिक और मानसिक रूप से फिट बनाए रखने पर है। मेरे लिए एकाग्रता और लय बनाए रखना जरूरी है और इसके लिए आवश्यक है कि मैं मानसिक और शारीरिक तौर पर पूरी तरह से फिट रहूं।

Share on

Leave a Reply