कुश्ती के दौरान गर्दन टूटने से नीलेश कंदूरकर की मौत

एलायंस टुडे ब्यूरो

नई दिल्ली। कुश्ती के क्षेत्र में एक उभरते युवा पहलवान और हर दंगल में जीतने का हौसला रखने वाला एक नौजवान शुक्रवार को सुबह जिंदगी की जंग हार गया। 20 साल के इस युवा का नाम नीलेश कंदूरकर था। घटना महाराष्ट्र के कोल्हापुर की है। नीलेश बचपन से ही अच्छी कुश्ती लड़ता था लेकिन अब वह इस हुनर को आगे बढ़ाने के लिए मजदूरी के पैसों के सहारे था। कुश्ती के दौरान गर्दन टूटने से नीलेश पिछले चार दिन से अस्पताल में भर्ती था लेकिन उसकी हालत में कोई सुधार नहीं हुआ और शुक्रवार को उसकी मौत हो गई।

कुश्ती के दौरान ऐसे टूटी गर्दन-

रिपोर्ट के मुताबित इलाके में ज्योतिबा जत्रा नाम का एक कुश्ती टूर्नामेंट आयोजिति किया जाता है। यह टूर्नामेंट बंदीवडे गांव में शुरू हुआ। यह टूर्नामेंट खेत की मिट्टी में ही होता है। इसमें नीलेश ने भी भाग लिया। लेकिन पहले की दांव में उसे एक बलिष्ठ प्रतिद्वंदी का सामना करना पड़ा। सामने वाला अपना दावं लगाता तो नीलेश भी अपनी टेक्निक से रोकता और उसे पटखनी देने की कोशिश करता। लेकिन तभी सामने वाले पहलवान ने नीलेश की कमर पकड़ ली और उसे हवा में उठा कर पटक दिया। नीलेश के प्रतिद्वंदी ने ऐसा दांव चला कि वह गर्दन के बल पर नीचे हो गया। इसी दौरान नीलेश ने उसके चंगुल से छूटने की कोशिश की और अपनी गर्दन में इतना जोर लगाया कि प्रतिद्वंदी से छूटने की बजाए उसकी गर्दन ही टूट गई। इसके बाद वह मौके पर अचेत हो गया। इस दौरान उसके चाहने वाले उसका हौसला बढ़ा रहे थे लेकिन नीलेश हिल तक नहीं पा रहा था। तभी मैच कराने वाले अधिकारियों ने देखा कि नीलेश अचेत है
और उसे कोई गंभीर चोट लगी है। इसके बाद उसे फौरन अस्पताल ले जाया गया लेकिन वहां कोई आराम नहीं हुआ। अंत में शुक्रवार को नीलेश की मौत हो गई।

गरीबी में पल रहा था पहलवान बनने का सपना-

नीलेश के ताऊ यानी उसके पिता के बड़े भाई भी पहलवन थे। नीलेश बचपन से ही कुश्ती में हाथ आजमाने लगा तो उसके हुनर पर लोगों की वाहवाही मिलने लगी। नीलेश और उसके घर वालों को आशा थी कि वह पहलवानी में बहुत अच्छा कर सकता है। लिहाजा उसने इसके लिए तैयारी शुरू कर दी। लेकिन घर की आर्थिक स्थिति इतनी कमजोर थी कि वह अपने घर के खेतों में काम छोड़कर कोल्हापुर में जाकर मजदूरी करने लगा। इसी मजदूरी के सहारे उसकी तैयारी चल रही थी। बताया जा रहा है कि उसने इस जोखिम भरे खेल को खेलने से पहले किसी प्रकार का बीमा भी नही कराया था।

Share on

Leave a Reply

Your email address will not be published.