कानपुरः गंगा में समाई कार, एक की मौत, तीन लापता

गंगा बैराज की रेलिंग तोड़ते हुए बेकाबू कार शुक्रवार को उफनाती गंगा में समा गई। कार में पी रोड निवासी एमसीए पास दो छात्र  समेत चार युवक सवार थे। बैराज गेट के आठ और नौ नंबर चैनल के बीच में आइसक्रीम विक्रेता को टक्कर मारती कार नदी में जा गिरी। आइसक्रीम विक्रेता बैराज चैनल गेट के बीच के पिलर पर गिरने के कारण बाहर निकाल लिया गया। लगभग चार घंटे बाद कार की लोकेशन पता चल गई और डेढ़ घटे की कवायद के बाद क्रेन की मदद से कार बाहर निकाली जा सकी। कार के साथ ही एक छात्र की शव भी बरामद हुआ। अाइस्क्रीम विक्रेता को टक्कर मार कार नदी में गिरी दिल दहला देने वाला यह हादसा शाम 4:30 बजे हुआ। प्रत्यदर्शियों के मुताबिक नवाबगंज की ओर से तेजी से आ रही लाल रंग की कार बैराज गेट के चैनल नंबर 8 के पास खड़े आइसक्रीम विक्रेता पुराना कानपुर निवासी संदीप दिवाकर को टक्कर मारने के बाद घसीटते हुए नौ नंबर की स्लैब को पार करती नीचे गिर गई। दोनों ओर से निकल रहे वाहन सवार जहां के तहां रुक गए। भीड़ तुरंत मौके पर पहुंची। कार कुछ देर दिखने के बाद तेज बहाव में ओझल हो गई। हालांकि आइसक्रीम विक्रेता संदीप चैनल गेट पर बने स्लैब पर दिख रहा था। डेढ़ घंटे की मशक्कत के बाद निकाला जा सका संदीप स्थानीय गोताखोर रामबाबू तिवारी, रोहित और कौशल आइसक्रीम विक्रेता संदीप को निकालने के प्रयास में जुट गए। डेढ़ घंटे की मशक्कत के बाद चैनल में उतरकर उसे निकाला जा सका। रोहित ने बताया कि नाव के जरिए नीचे से चैनल के पास जाने की कोशिश की गई। गहराई ज्यादा होने से किसी की हिम्मत नहीं पड़ी। चैनल के बीच में स्लैब पर पड़े होने से संदीप को निकाल लिया गया। उसके दोनों हाथों, पैर और कमर में फ्रैक्चर होने की आशंका है। पुलिस ने घायल को तुरंत एंबुलेंस से हैलट अस्पताल भेज दिया। जलपुलिस ने कड़ी मशक्कत के बाद निकाली कारमौके पर पहुंची विधायक नीलिमा कटियार ने डीआईजी से बात की तो उन्होंने पीएसी की बटालियन भेजने का आश्वासन दिया। उधर, डीएम ने तुरंत लखनऊ से एनडीआरएफ टीम बुलाने को कह दिया। लगभग दो घंटे बाद पहुंची क्रेन के लिए 35 फिट नीचे फंसी कार को निकालना चुनौती बन गया। पहली कोशिश में नाकामी के बाद गोताखोरों और जलपुलिस की मदद से काफी मशक्कत कर कार को निकाला गया। पीरोड के जैकी की निकली कार, सवार थे 3 अौर दोस्त लाल रंग की बीट कार के साथ निकाले गया शव की शिनाख्त पीरोड निवासी रजत के रूप में हुई। रजत जल संस्थान के कर्मचारी का बेटा है। रजत शव निकलने से पता चला कि कार कार पीरोड निवासी जैकी है जो कार चला रहा था। उसके साथ विक्की और गोलू भी कार में सवार थे।

 नदी ने निकाली गई कार।
Share on

Leave a Reply