कोरोना तो नहीं आपकी आवाज बताएगी

alliancetoday
alliancetoday

रमेश चंद्र/एलायंस टुडे ब्यूरो

लखनऊ। महामारी के मरीजों की बदली आवाज और खांसने की रिकॉर्डिंग कर चुके वैज्ञानिक यह तकनीक विकसित करने में जुटे हैं, जिससे बेहद आसान-सस्ती और कम समय में जांच संभव होगी। आपकी आवाज भी बता सकती है कि कहीं आपको कोरोना तो नहीं है।
शोधकर्ता फिलहाल कोरोना के संदिग्धों की आवाज, खांसी और सांस लेने के नमूनों की जांच में जुटे हैं और इसका मिलान पहले रिकॉर्ड से मरीजों की आवाज से किया जा रहा है। इसे आर्टीफीशियल इंटेलीजेंस के डीप लर्निंग और मशीन लर्निंग डाटा में फीड किया जा रहा है, ताकि कहीं भी संदिग्ध की आवाज की रिकॉर्ड कर आसानी से कोरोना की जांच की जा सके।

कोविड वायस डिटेक्टर विकसित करने वाली कार्नेगी मेलन यूनिवर्सिटी में कंप्यूटर साइंस की शोध प्रोफेसर रीता सिंह ने कहा कि किसी बीमारी से शरीर और मन-मस्तिष्क के प्रभावित होने का असर मनुष्य की आवाज पर भी पड़ता है। आवाज में यह बदलाव सेकेंड के लाखों हिस्से के बराबर हो सकता है, लेकिन ऐसे सूक्ष्म बदलाव को भी तकनीक की मदद से पकड़ा जा सकता है।

 

Share on

One thought on “कोरोना तो नहीं आपकी आवाज बताएगी

  1. गोंडा की न्यूज नहीं खुल रही है। गोंडा में कोई वर्क कर रहा है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *