दंडित किये जाएं पीएफ घोटाले के दोषी

alliancetoday
alliancetoday

एलायंस टुडे ब्यूरो

लखनऊ। विद्युत कर्मचारी पेंन्शनर वेलफेयर एसोसिएशन उप्र के पदाधिकारियों की बैठक लेसा भवन में सम्पन्न हुई, जिसमें पीएफ को लेकर राज्य सरकार की ओर से लिये गये निर्णय का स्वागत किया गया। साथ ही, दोषी अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की गई।

बैठक की अध्यक्षता एसोसिएशन के अध्यक्ष महातम पांडे ने की। बैठक को संबोधित करते हुए एसोसिएशन के अध्यक्ष महातम पांडे व कार्यवाहक अध्यक्ष आफाक हुसैन ने कहा है कि पावर कार्पोरेशन के सेवानिवृत्त कर्मचारियों को अस्पताल में इलाज कराने के उपरांत भुगतान किये गये पैसों का न तो पूरा भुगतान किया जा रहा है और न ही सेवानिवृत्त कर्मचारियों के दौड़ने व प्रयास करने उपरांत पैसे का भुगतान हो पाता है। इस तरह, वरिष्ठ नागरिकों का उत्पीड़न किया जा रहा है। एसोसिएशन ने सेवानिवृत्त कर्मचारियों को कैशलेश इलाज की निशुल्क सुविधा प्रदान करने की मांग की है। नेताओं ने कहा कि सेवानिवृत्त कर्मचारियों की पेन्शन आयकर मुक्त की जाये क्योंकि यह आय नहीं जीवन भर सेवा के बदले बुढ़ापे में जीविका का एक साधन है।

उन्होंने कहा कि वर्ष 2006 में एक ही पद एक ही कार्य पर कार्यरत कर्मचारियों को 6600 का और कुछ कर्मचारियों को इससे वंचित किया गया है जिसके कारण पेन्शनरों को आर्थिक हानि उठानी पड़ी है। एसोसिएशन ने मांग की है कि इस विसंगति को दूर किया जाये। एसोसियेशन के महामंत्री आरवाई शुक्ला ने कहा है कि वर्षों से शक्ति भवन में भ्रष्टाचार में लिप्त अधिकारियों की जांच की फाइलें डीपी सेक्शन मे लम्बित पड़ी हुई हैं जो फाइलें दबा दी गयी हैं उन पर आज तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है। नेताओं ने भ्रष्टाचार में लिप्त अधिकारियों के विरुद्ध कठोर कार्रवाई व अवैध धन से अर्जित की गयी चल अचल सम्पत्ति की जांच कराने के लिए सरकार से मांग उठाई। साथ ही, पीएफ घोटाले में शामिल अधिकारियों व कर्मचारियों के विरुद्ध कठोर से कठोर कार्रवाई की मांग मुख्यमंत्री से की है।

Share on
Loading Likes...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *