एक करोड़ की लागत से बनेगीं रेशम कीड़ा पालने की चैकियां, भूमि आबंटन की कवायद शुरू

एलायंस टुडे ब्यूरो

गोण्डा। रेशम उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए शासन ने सूबे के सभी मण्डल के रेशम विभाग को रेशम चैकी कीट पालन भवन की सौगात दी है। उप निदेशक सत्तेन्द्र कुमार सिंह ने बताया कि मण्डल के सभी जिलों मे चैकी भवन निर्माण कराये जाने के लिए भूमि मुहैया करा दी गई है। रेशम निदेशालय ने कीट पालन चैकी निमार्ण के लिए धन मुहैया कराया है। प्रत्येक जिले में पांच चैकियां बनाई जायेगीं। जिनका देखभाल फार्म पर तैनात इंचार्ज ही करेंगे। उप निदेशक सत्तेन्द्र कुमार सिंह ने बताया कि गोण्डा में पांच रेशम कीट पालन चैकी भवन का निर्माण किया जायेगा। जिसके लिए स्थानों का चुनाव किया जा चुका है। निर्माण के लिए निदेशालय ने धन मुहैया कराया है।

एक करोड़ की लागत से बनेगीं चैकियां

रेशम कीड़ा पालन चैकियों का निर्माण रूपया एक करोड़ की लागत से कराया जायेगा। जिले के रेशम फार्म जानकी नगर, दुरगोड़वा, करनपुर, सुभाग पुर, मनकापुर में चैकियों का निर्माण कराया जायेगा। इन स्थानों पर विभाग ने भूमि का आबंटन करा दिया है।

तकनीक व्यवस्था से लैस होगीं चैकियां

रेशम कीट पालन के चैकी भवन तकनीकी व्यवस्था से लैस किये जायेंगे। जिससे उसमें पाले जाने वाले कीटों को मौसम की मार न झेलना पड़े। कीड़ो को सुरक्षित रखने के लिए तकनीकी अपनाई जायेगी।

बढेगा उत्पादन, दुगनी होगी आय

शासन ने रेशम उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए चैकियों में तकनीकी व्यवस्था कराये जाने के निर्देश दिए हैं। इस व्यवस्था से कीड़ो की अच्छी देख भाल हो सकेगी और उत्पादन बढने के साथ ही विभाग को अच्छा मुनाफा होगा।

Share on
Loading Likes...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *