सभी को हंसाने वाले बेहतरीन अभिनेता कादर खान अब नही रहें

एलायंस टुडे ब्यूरो

मुंबई। हिंदी सिनेमा के बेहतरीन अभिनेता और लेखक कादर खान का निधन हो गया है। वह 81 वर्ष के थे। बेटे सरफराज ने कादर खान के निधन की पुष्टि की है। वह लंबे समय से बीमार चल रहे थे और पिछले कुछ समय से कनाडा के एक अस्पताल में भर्ती थे। कुछ दिनों पहले कादर खान की मौत की झूठी खबर भी आई, जिसका उनके बेटे ने खंडन किया था।

नरेंद्र मोदी और अनुपम खेर ने दी श्रद्धांजलि

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कादर खान को श्रद्धांजलि दी। उन्होंने ट्वीट किया कि कादर खान जी ने अपने शानदार अभिनय कौशल से स्क्रीन को चमकाया और अपने अनूठे अंदाज से सबका मनोरंजन किया, उनके जाने का बेहद दुख है। अनुपम खेर ने कादर खान को याद करते हुए ट्वीट किया, कादर खान साहब हमारे देश के बेहतरीन अभिनेताओं में से एक थे। उनके साथ काम करने का अनुभव मेरे लिए बेहद खास रहा। उनके काम करने का तरीका सबसे अलग था। उनका हास्य शाश्वत और मौलिक था। वह एक अद्भुत लेखक थे। हम उन्हें और उनकी प्रतिभा को याद करेंगे।

2018 में हुआ निधन

कनाडा के हॉस्पिटल और बेटे सरफराज ने बताया, मेरे पिता अब नहीं रहे। लंबी बीमारी के कारण कनाडा के समय के अनुसार 31 दिसंबर को शाम 6 बजे उनका निधन हो गया। वह दोपहर में कोमा में चले गए थे। वह 16-17 सप्ताह तक अस्पताल में थे। कादर खान का अंतिम संस्कार कनाडा में ही किया जाएगा। सरफराज ने बताया, हम अंतिम संस्कार कनाडा में ही करेंगे। यहां हमारा पूरा परिवार काफी लंबे समय से रह रहा है, इसलिए हम सभी अंतिम क्रियाएं सिर्फ यहीं करेंगे। हिंदी सिनेमा के मशहूर अभिनेता कादर खान लंबे समय से बीमार चल रहे थे और कनाडा के अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था। कादर खान को सांस लेने में समस्या थी और इसी कारण डॉक्टरों ने उन्हें वेंटिलेटर पर रखा था। कादर खान की तबीयत खराब है इस को लेकर चल रही खबरों के बाद बॉलीवुड सिलेब्रिटीज भी उनके अच्छे स्वास्थ्य की दुआएं करने लगे थे।

कौन सी फिल्म से की थी शुरुआत

अमिताभ बच्चन ने ट्वीट किया, कादर खान, बेहद प्रतिभाशाली एक्टर और राइटर अस्पताल में हैं। उनकी सेहत के लिए दुआ करता हूं। कादर खान का जन्म 22 अक्टूबर, 1937 को काबुल में हुआ। उन्होंने 1973 में ‘दाग’ फिल्म से अपने अभिनय करियर की शुरुआत की। इसमें राजेश खन्ना मुख्य भूमिका में थे। इससे पहले वह रणधीर कपूर और जया बच्चन की फिल्म ‘जवानी-दिवानी’ के लिए संवाद लिख चुके थे। एक पटकथा लेखक के तौर पर खान ने मनमोहन देसाई और प्रकाश मेहरा के साथ कई फिल्में लिखी।

इतनी फिल्म के लिखें संवाद

कादर खान ने मनमोहन देसाई के साथ मिलकर धर्म वीर, गंगा जमुना सरस्वती, कुली, देश प्रेमी, सुहाग, अमर अकबर एंथनी और मेहरा के साथ ज्वालामुखी, शराबी, लावारिस और मुकद्दर का सिकंदर जैसी फिल्में लिखी। खान ने कुली नंबर 1, मैं खिलाड़ी तू अनाड़ी, कर्मा, सल्तनत जैसी फिल्मों के संवाद लिखे। उन्होंने करीब 300 फिल्मों में काम किया और 250 से ज्यादा फिल्मों के संवाद लिखे थे।

ये थी बिमारी

कादर खान को प्रोग्रेसिव सुपरान्यूक्लियर पाल्सी नामक बीमारी थी, जिसकी वजह से उन्हें बैलेंस बनाने में, चलने-फिरने में दिक्कत होती थी। इसके अलावा उन्हें डिमेंसिया (भूलने की बीमारी) भी थी। बता दें कि कादर खान का जन्म अफगानिस्तान के काबुल में हुआ था और साल 1973 में राजेश खन्ना अभिनीत ‘दाग’ से उन्होंने बॉलीवुड में अपने करियर की शुरुआत की थी। उन्होंने 300 से ज्यादा फिल्मों में काम किया है। उन्होंने 250 से ज्यादा फिल्मों में डायलॉग भी लिखे हैं। फिल्मों में एक्टिंग करियर शुरू करने से पहले उन्होंने रणधीर कपूर और जया बच्चन अभिनीत फिल्म ‘जवानी दिवानी’ में भी काम किया था।

Share on
Loading Likes...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *