सिरौली में जबरन धर्म परिवर्तन के मामले में 3 के खिलाफ रिर्पोट दर्ज

एलायंस टुडे ब्यूरो

बरेली। भोजीपुरा के एक युवक ने थाना सिरौली में नशा देकर जबरन खतना कर देने के आरोप में तीन भाइयों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है। युवक के मुताबिक उसे बंधक बना लिया गया और कई दिनों तक नमाज पढ़ने और भैंसे का मांस खाने को मजबूर किया गया। रविवार को किसी तरह भागकर थाना सिरौली पहुंचा तो पुलिस ने भी उसे भगा दिया। सोमवार को घटना की भनक भाजपा नेताओं को लगी तो उन्होंने थाने पहुंचकर हंगामा शुरू कर दिया। इस बीच मामला प्रशासनिक अफसरों तक पहुंच गया। इसके बाद थाने में पीड़ित युवक की तहरीर पर एफआईआर दर्ज की गई। अफसरों के निर्देश पर एलआईयू ने भी मामले की जांच शुरू कर दी है।

भोजीपुरा के गांव बुझिया जनूबी में रहने वाले महेंद्र मौर्य के मुताबिक वह दिल्ली में एक ट्रक पर बतौर क्लीनर काम रहा था। कुछ समय पहले वह ट्रक के साथ बंगलूरू गया तो वहां उसकी मुलाकात सिरौली के मोहल्ला प्यास में रहने वाले फुरकान से हुई। एक ही जिले के होने की वजह से उनमें दोस्ती हो गई। ड्राइविंग सिखाने का झांसा देकर फुरकान उसे अपने साथ सिरौली ले आया। महेंद्र का आरोप है कि कुछ दिन पहले फुरकान ने अपने भाई रिजवान और इरफान की मदद से उसे चाय में नशे की गोली देकर बेहोश कर दिया और फिर उसका खतना करा दिया। होश आया तो उसे बताया कि वह अब मुसलमान बन चुका है। उसने विरोध किया तो फुरकान और उसके भाइयों ने उसे बंधक बना लिया। कई दिन तक उसे डरा-धमकाकर जबरन नमाज पढ़वाई और भैंस का मांस खाने को भी मजबूर किया। पीड़ित महेंद्र का कहना है कि रविवार को किसी तरह वह फुरकान के चंगुल से भाग निकला और थाना सिरौली पहुंचकर पुलिस को जानकारी दी। लेकिन पुलिस ने उसे थाने से भगा दिया। सोमवार को उसने एसडीएम कार्यालय जाकर शिकायत की तो मामला प्रशासनिक अफसरों तक पहुंचा। भाजपा नेताओं को भी मामले की भनक लगी तो नगर पालिका चेयरमैन संजीव सक्सेना, सिंचाई मंत्री धर्मपाल सिंह के प्रतिनिधि प्रभाकर शर्मा, युवा मोर्चा नगर अध्यक्ष राम गौतम, आशू सिंह समेत कई नेता कार्यकर्ताओं के साथ सीओ आलोक अग्रहरि से मिले। थाने में भी काफी देर हंगामा हुआ। इसके बाद सिरौली पुलिस ने महेंद्र की तहरीर पर एफआईआर दर्ज कर आरोपियों की तलाश में दबिश दी लेकिन वे फरार हो गए। सिरौली पुलिस ने महेंद्र मौर्य को मेडिकल के लिए भेजा है।

जबरन धर्म परिवर्तन मामले को देखते हुए पीएसी की तैनाती हुई

जबरन धर्म परिवर्तन करने का मामला सामने आने के बाद सिरौली में तनाव को देखते हुए पीएसी की तैनाती कर दी गई है। उधर, इंस्पेक्टर सिरौली रामअवतार सिंह ने बताया कि पीड़ित महेंद्र मौर्य ने पूछताछ में अलग-अलग तथ्य बताए हैं। उसकी बातचीत से लग रहा है कि उसका खतना सिरौली में नहीं बल्कि छह महीने पहले दिल्ली में किया गया था। फिलहाल उसे जांच के लिए भेजा गया है। इस युवक को अपनी बहन से शादी कराने का झांसा दिया गया था। खतना हुआ कि नहीं, यह तो मेडिकल होने के बाद सामने आएगा। फिलहाल केस दर्ज करके आरोपियों की धरपकड़ की कार्रवाई शुरू कर दी गई है।

Share on
Loading Likes...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *