विमानन मंत्री ने किया इन्वेस्टर्स समिट 2018 को सम्बोधित


एलायंस टुडे ब्यूरो

लखनऊ। केन्द्रीय नागरिक विमानन मंत्री अशोक गजपति राजू पूसापति ने कहा कि उत्तर प्रदेश क्षेत्रफल की दृष्टि से एक बड़ा राज्य है। इसलिए यहां विमानन सेवा के लिए अपार सम्भावनाएं हैं। उन्होंने कहा कि वर्तमान केन्द्र सरकार, प्रदेश सरकार को हर सम्भव मदद देने का कार्य कर रही है। इस सकारात्मक रुख के कारण प्रदेश में न केवल राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों की संख्या में वृद्धि हुई है, बल्कि यात्रियों की संख्या में भी गुणात्मक इजाफा हुआ है। केन्द्रीय नागर विमानन मंत्री ने यह विचार आज यहां इन्दिरा गांधी प्रतिष्ठान में आयोजित ‘इन्वेस्टर्स समिट-2018’ के दौरान व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि विश्व में भारतवर्ष का नागर विमानन के क्षेत्र में विकास अब उस स्तर तक पहुंच गया है, जहां हम अमेरिका और चीन के बाद तीसरे नम्बर पर हैं। हमने नागर विमानन के क्षेत्र में भारतवर्ष में निवेश में आने वाली बाधाओं एवं लालफीताशाही को बड़ी सीमा तक समाप्त करते हुए आसान कर दिया है और अब निवेशकों को इन समस्याओं का सामना नहीं करना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि सरकार औद्योगिक निवेशकों को बड़ी सीमा तक फैसिलिटेट कर रही है। नागरिक उड्डयन मंत्री नन्द गोपाल गुप्ता ‘नन्दी’ ने वर्तमान सरकार के लक्ष्य ‘सब उड़ें-सब जुड़ें’ को ध्यान में रखते हुए कहा कि आम आदमी को भी हवाई यात्रा का लाभ मिल सके, इसके लिए काम किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि भारत सरकार द्वारा आर0सी0एस0 की द्वितीय चक्र की बिडिंग में फाइनल हुए कुल रूट्स में 25 हवाई अड्डों में से 09 हवाई अड्डे उत्तर प्रदेश राज्य के हैं। इलाहाबाद में वर्ष 2019 में आयोजित होने वाले कुम्भ के दृष्टिगत उन्होंने कहा कि आर0सी0एस0 की द्वितीय चक्र की बिडिंग में इलाहाबाद से 13 शहर कनेक्ट हो जाएंगे। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश में मेंटीनेंस, रिपेयर और ओवरहाॅलिंग (डत्व्) सुविधाओं के विकास के लिए कृतसंकल्प है और इस पर गम्भीरता से विचार कर रही है। उन्होंने यह भी कहा कि हम वैश्विक रूप से प्रतिस्पर्धी और सस्ती एम0आर0ओ0 सुविधाओं के लिए यथासम्भव रियायतें और प्रोत्साहन प्रदान करेंगे। उन्होंने निवेशकों का आह्वान किया कि वे आगे आएं और प्रदेश की नीतियों में निहित प्रोत्साहनों और दायित्वों का लाभ उठाकर प्रदेश को विकास की नई ऊंचाइयों तक पहुंचाएं। विशेष सचिव नागरिक उड्डयन विभाग सूर्यपाल गंगवार ने बताया कि उत्तर प्रदेश सरकार नागर विमानन के क्षेत्र में औद्योगिक निवेश प्रोत्साहित करने के लिए ‘उत्तर प्रदेश नागर विमानन प्रोत्साहन नीति-2017’ लेकर आयी है, जिसमें औद्योगिक निवेश के लिए विभिन्न प्रकार की रियायतों और प्रोत्साहनों का प्राविधान किया गया है। इस अवसर पर भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण के वरिष्ठ अधिकारी जी0के0 चैकियाल, जी0एम0आर0 के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स के सदस्य के0 नारायण राव, मल्टीनेशनल कम्पनी थेल्स के प्रतिनिधि श्री इमैनुअल सहित नागरिक उड्डयन विभाग के अन्य अधिकारी व निवेशक मौजूद थे।

Share on
Loading Likes...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *