यूपी विधानमंडल सत्र 18 से शुरू

एलायंस टुडे ब्यूरो

लखनऊ। उत्तर प्रदेश विधानमंडल सत्र 18 दिसंबर से शुरू होगा। विधानसभा की कार्यवाही सुचारू ढंग से कराने को लेकर विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित की अध्यक्षता में सोमवार को विधान भवन में बैठक हुई।

सरकार सभी विषयों पर चर्चा के लिए तैयार-योगी
इस मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने कहा कि हम चाहते हैं कि सदन व्यवस्थित रूप से चले। जनता की समस्याएं सदन के सम्मुख विधायक प्रस्तुत करें। उसका समाधान निकले। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार सभी विषयों पर चर्चा कराने के लिए तैयार है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश देश की सबसे बड़ी विधान सभा है। हम चाहते हैं कि इस सदन में मुद्दों पर आधारित बहस हो। सदन की यह कार्यप्रणाली दूसरों सदनों के लिए भी अनुकरणीय बने।
मुख्यमंत्री ने कहा कि इस सदन में आरोप-प्रत्यारोप, टोका-टोकी होती है। इससे विधायकों को सदन में अपनी बात कहने का अवसर नहीं मिल पाता। कार्यवाही बाधित होने से जनप्रतिनिधियों के प्रति प्रदेश की जनता के बीच गलत संदेश जाता है। उन्होंने दलीय नेताओं से अपील की कि मुद्दों व तथ्यों पर आधारित सभी महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा करें। सरकार प्रत्येक प्रकार से उनके समाधान के लिए व चर्चा के लिए तत्पर है।

सदस्य संसदीय मर्यादा के साथ रखें अपना पक्ष-दीक्षित
विधानसभा अध्यक्ष श्री दीक्षित ने सभी दल के नेताओं से अनुरोध किया की वे अपना-अपना पक्ष सदन में शालीनता व संसदीय मर्यादा के साथ रखें। प्रेमपूर्ण वातावरण में सदन में बहस हो। उन्होंने सदन में चर्चा के दौरान सदस्यों को व्यक्तिगत आक्षेप से बचाने की अपील की। उन्होंने इस बात पर संतोष प्रकट किया की विगत सत्र में एक-दो अवसरों को छोड़कर सदन बहुत व्यवस्थित ढंग से चला। इस सत्र को बिना किसी अवरोध के चलाए जाने की अपील की।
बैठक में नेता विरोधी दल के स्थान पर इकबाल महमूद, बहुजन समाज पार्टी के लालजी वर्मा और कांग्रेस पार्टी के नेता अजय कुमार तथा अपना दल एस के नेता नील रतन पटेल ने भी अपने विचार प्रकट करते हुए सदन की कार्यवाही को व्यवस्थित ढंग से चलाने में प्रत्येक प्रकार का सहयोग देने का आश्वासन दिया। बसपा के नेता श्री वर्मा ने कहा कि जब से यह 17वीं विधान सभा चुनकर आई है और जितने भी सत्र हुए हैं, वे सभी व्यवस्थित ढंग से चलें। 20 वर्षों में ऐसी आदर्श स्थिति आई है जिसमें वर्तमान मुख्यमंत्री के नेतृत्व में सदन की कार्यवाही बहुत ही व्यवस्थित ढंग से चली। आगे भी प्रत्येक प्रकार का सहयोग देने का मनतव्य दोहराया। सदन की बैठक के दिनों में बढ़ोत्तरी की मांग की। संसदीय कार्यमंत्री सुरेश खन्ना ने मुख्यमंत्री की भावना के साथ-साथ सम्बद्व करते हुए सभी दलीय नेताओं से सहयोग करने की अपील की।

19 दिसम्बर को पेश होगा अनुपूरक बजट
कार्यमंत्रणा की बैठक के बाद अध्यक्ष श्री दीक्षित ने बताया की बैठक 18 दिसम्बर से 21 दिसम्बर तक घोषित कार्यक्रमों पर चर्चा हुई। 18 दिसम्बर को स्व रामकुमार पटेल, सदस्य विधानसभा व स्व नारायण दत्त तिवारी, पूर्व मुख्यमंत्री और अन्य भूतपूर्व विधान सदस्यों को शोकांजलि के बाद सदन स्थगित कर दिया जाएगा। 19 दिसम्बर को 12 बजकर 20 मिनट पर अनुपूरक बजट रखा जायेगा। 21 दिसम्बर को सदन में लम्बित 103 के संकल्पों पर चर्चा कराई जाएगी। शेष कार्यक्रमों के लिए कार्य मंत्रणा पुनः बैठेगी। इस अवसर पर उत्तर प्रदेश विधान सभा के प्रमुख सचिव प्रदीप कुमार दुबे व अन्य अधिकारी मौजूद थे।

Share on
Loading Likes...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *